अनुशासन

अनुशासन पर निबंध तथा जीवन में अनुशासन का महत्व

अनुशासन का अर्थ होता है अपने उपर शासन यानी किसी व्यक्ति का अपने ऊपर कितना नियंत्रण है कोई भी काम करते या किसी से भी बोलते समय  एक अच्छा अनुशासित व्यक्ति केवल अपने अनुशासन के बलबूते समाज में अपनी एक पहचान बनाता है और हर किसी से प्रशंसा एवं सम्मान प्राप्त करता है

एक सुखी और समृद्ध जीवनयापन के लिए किसी भी व्यक्ति का अच्छे तरीके से अनुशासन में होना अति आवश्यक है अगर कोई व्यक्ति अपने कार्य में सही तरीके से अनुशासित नहीं होगा तो वह उस कार्य पर ध्यान लगाकर काम नहीं कर सकता और ना ही वह अपने द्वारा तय किया गया लक्ष्य पा सकता है

हमारे जीवन में अनुशासन के महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बाल्यकाल से ही अनुशासित रहने की शिक्षा दी जाती है जिसकी शुरुआत हमारे स्कूलों से होती है स्कूल में हर छात्र पूर्ण रूप से अनुशासित होकर समय पर जाता है स्कूल की वर्दी पहनता है जो कि हमें आने वाले समय में समय का पालन और अच्छे रहन-सहन की शिक्षा देता है

परिवार में भी अनुशासित व्यक्ति का हमेशा सम्मान होता है जब भी कोई जरूरी निर्णय परिवार के सदस्य द्वारा लिया जाता है तो हमेशा अनुशासित व्यक्ति से चर्चा कि जाती है चाहे वह उम्र में ही छोटा क्यों ना हो इसके अलावा अनुशासित विद्यार्थी हमेशा अध्यापक का प्रिय रहता है जिससे कि अध्यापक और विद्यार्थी के बीच एक विशेष रिश्ता बन पाता है

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में अनुशासन का महत्व और अधिक बढ़ जाता है अनुशासन केवल किसी से अच्छे तरीके से वार्तालाप करना ही नहीं बल्कि अपने दिनचर्या में इसको लाना है चाहे कोई अपने सामने हो या ना हो

आप चाहे किसी भी क्षेत्र में चले जाए चाहे वह खेल का मैदान हो या फिर कोई कंपनी या फिर हमारी सेना हर कोई अनुशासन की वजह से अपनी एक विशेष पहचान बनाता है अगर कोई खिलाड़ी मैदान में अनुशासन से खेलते हैं तो वह हमेशा सम्मान प्राप्त करते हैं चाहे वह विरोधी टीम का ही खिलाड़ी क्यों ना हो वहीं सैनिक अपने अनुशासन की वजह से हर घर में उदाहरण के रूप में प्रशंसा पाते हैं

हम अपने जीवन में अनुशासन को लाने के लिए बहुत सारे तरीके अपना सकते हैं जैसे कि अच्छा पौष्टिक खाना खाना चाहिए एवं समय पर सोना चाहिए क्योंकि अच्छा खाना हमारे मस्तिष्क को अच्छे विचारों से भरता है और सही नींद से हमारे मस्तिष्क को आराम मिलता है और हम अगले दिन अच्छे तरीके से किसी कार्य को कर सकते हैं

अक्सर देखा गया है कि पढ़ाई के समय अनुशासन में रहना काफी कठिन होता है जिसका कारण होता है हम बहुत अधिक विशाल लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं जिससे कि उसको पूर्ण करने में काफी समय लगता है लेकिन हमारा मस्तिष्क काफी समय तक लगातार एक लक्ष्य के पीछे अनुशासित नहीं हो पाता इसके लिए हमें चाहिए की छोटे-छोटे लक्ष्य निर्धारित करें ताकि जब वह लक्ष्य प्राप्त हो तो हमें आनंद महसूस हो और हमें अगला लक्ष्य पाने के लिए प्रोत्साहन भी मिले इसके साथ ही हम लक्ष्य की प्राप्ति पर खुद को कुछ उपहार भी दे सकते हैं या अपनी प्रशंसा खुद कर सकते हैं इससे की सुखद अनुभव हो एवं हमारे अंदर के अनुशासन में वश्रदी होकर हमारा अपने ऊपर नियंत्रण बड़े

इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए हम कह सकते हैं कि अनुशासन न केवल किसी व्यक्ति बल्कि संपूर्ण देश की प्रगति में विशेष प्रभाव डालता है क्योंकि जब उस देश के नागरिक अनुशासित होंगे तो वह अच्छी लगन मेहनत से कार्य करेंगे जिससे कि वह देश संपूर्ण तरक्की करेगा

Discipline essay in hindi
Discipline essay in hindi

    No comments:

    Post a comment