प्रदूषण

प्रदूषण पर निबंध

हमारे आसपास मौजूद पर्यावरण का किसी भी वजह से प्रदूषित होना प्रदूषण कहलाता है इसका मुख्य कारण मानवीय गतिविधियां है जिसकी वजह से प्रदूषण के सतर में बहुत अधिक मात्रा में बढ़ोतरी दर्ज की गई है

आज विकास के लिए प्राकृतिक संसाधनों का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है जंगलो की लगातार कटाई हो रही है जोकि हमारे पर्यावरण के लिए अति उपयोगी है क्योंकि पेड़ पर्यावरण में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड लेकर उसमें ऑक्सीजन देते हैं जो हमारे तथा सभी जीव जंतुओं के लिए जीवन जीने का प्राथमिक स्रोत है इसके अलावा पेड़ पौधों की कटाई से भूमि का लगातार कटाव हो रहा है क्योंकि वह है अपनी जड़ों से भूमि को बांधकर रखते हैं आज हमें बिन मौसम बारिश देखने को मिलती है जिसका कारण पेड़ों की कटाई ही है क्योंकि वह वर्षा के लिए उपयोगी होते हैं

बदलते रहन सहन की वजह से आज हम किसी भी छोटी से छोटी जगह पर जाने के लिए अपने यातायात के साधन का इस्तेमाल करते हैं जिन से निकलने वाला धुआं पर्यावरण को बहुत अधिक प्रभावित करता है खासतौर पर सड़कों पर मौजूद पुराने वाहन जिनकी ना तो समय पर जांच की जाती है ना ही उन्हें मरम्मत करने योग्य समझा जाता है इसके अलावा वाहनों से निकलने वाले शोर से न केवल इंसानों के स्वास्थ्य पर असर पड़ रहा है लेकिन जीव-जंतु भी इससे बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं

आज उद्योग धंधे, फैक्ट्रियों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है लेकिन ज्यादातर उद्योग पर्यावरण के प्रति ध्यान नहीं देते इसके कारण उद्योगों से निकलने वाला खतरनाक कचरा सीधे जल स्रोतों में प्रवेश कर रहा है इससे न तो वह जल पीने योग्य रहता बल्कि उसमें मौजूद जीव जंतु को भी उस में जीवित रहने के लिए जूझना पड़ता है उद्योगों से निकलने वाले दुहे से पर्यावरण में जहरीली गैस से मिल रही

इन सभी चीजों की वजह से प्रकृति का संतुलन लगातार बिगड़ रहा है वह वन्य जीव जो पृथ्वी पर लाखो सालों से मौजूद थे तथा उन्होंने पृथ्वी पर तरह-तरह की घटनाओं को झेला वह भी इस प्रदूषण के सामने अपने जीवन की लड़ाई हार रहे हैं इसी कारण आज बहुत सारी दुर्लभ प्रजातियां लुप्त हो रही है या फिर लुप्त होने की कगार पर है
हमें इसके प्रति जागरूक होने की अत्यंत आवश्यकता है ताकि पर्यावरण को बचाया जा सके यह प्रदूषण का ही प्रभाव है कि आज स्कूल के विभिन्न कक्षाओं के विधार्थी को इसके प्रति जानकारी दी जाती है ताकि वह बड़े होकर एक पर्यावरण के प्रति जिम्मेदार व्यक्ति बन सके

essay on pollution in hindi

    No comments:

    Post a comment