योग का महत्व

Importance of Yoga in Students Life in Hindi

छात्रों के जीवन में योग का महत्व 


आज पूरी दुनिया मैं योग के प्रति जागरूकता बहुत ही तेजी से फैल रही है खास करके विकसित देश योग के मामले में भारत से भी आगे हैं जहां योग की शुरुआत हुई थी जब से यूनाइटेड नेशन ने 21 जून को इंटरनेशनल योगा डे मनाने का फैसला किया तब से योग के प्रति लोगों में जागरूकता और ज्यादा बड़ी है इसलिए विद्यार्थियों को भी इसकी उपयोगिता के बारे में पता होना चाहिए

विद्यार्थी जीवन बड़ा ही मजेदार होता है और अक्सर हम ज्यादातर समय मौज मस्ती या फिर स्कूल जाने और ट्यूशन जाने तथा पढ़ाई करने में गुजार देते हैं और यही हमारी दिनचर्या का हिस्सा होता है लेकिन इसके साथ ही विद्यार्थी जीवन में परीक्षा का तनाव बहुत आता है और ऐसे समय में विद्यार्थी को शांत और संतुलित रहना बहुत ही आवश्यक है तभी वह अपना बेहतर प्रदर्शन कर पाएगा इसके लिए हमारे शरीर को शांत और केंद्रित रहने के लिए ट्रेनिंग देनी पड़ती है और यह काम योग बहुत अच्छे से करता है

प्रातकाल उठकर 10 से 20 मिनट योग करने से शरीर में अंदरूनी मजबूती आती है और मस्तिष्क शांत रहता है जिससे विद्यार्थियों ध्यान लगाकर सभी काम अच्छे से कर पाते हैं चाहे वह खेलकूद से जुड़ा हो या फिर पढ़ाई से
इसके साथ योग से हमें सुबह जल्दी उठने की आदत बनती है और हमारा आलस खत्म होता है तथा हम अनुशासन में रहना सीखते हैं जो कि किसी भी विद्यार्थी को जीवन में आगे बढ़ने के लिए बहुत ही आवश्यक है
योगा करने से हमें अपने शरीर की अहमियत का अंदाजा होता है तथा हम अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनते हैं और यह किसी भी देश के लिए बहुत ही आवश्यक है कि उसके नागरिक शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ हो तभी वह देश आर्थिक तरक्की कर पाएगा

इन सभी बातों से यह साफ है कि विद्यार्थी के जीवन में योग की बहुत ही ज्यादा अहमियत है और हमें इसे प्रतिदिन थोड़ा बहुत समय निकालकर जरूर करना चाहिए तथा अपने दोस्तों को भी योग के प्रेरित करना चाहिए

No comments:

Post a comment