बिजली बचाओ

Save Electricity Essay in Hindi

बिजली बचाओ

जब से मनुष्य बिजली का आविष्कार किया है तब से यह हमारे सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए एक माध्यम के रूप में कार्य करती आई है और आज के दौर में हम बिजली के बगैर किसी काम की कल्पना भी नहीं कर सकते चाहे हमें अपना फोन चलाना हो या फिर टीवी पर कोई समाचार देखना हो हर चीज में बिजली का उसी तरह इस्तेमाल है जिस तरह मनुष्य के जीवन में दिल का यहां तक के हमारे वाहन भी उर्जा निर्भर होते हैं जो कि एक तरह से बिजली ही होती है लेकिन हमें अक्सर इस बात की जागरूकता नहीं होती कि यह बिजली जो हम इतनी आसानी से प्राप्त कर रहे हैं इसके पीछे बहुत बड़ी मात्रा में हमारे प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल होता है अगर हम बात करें अपने देश भारत की तो यहां ज्यादातर बिजली कोयले से बनती है और बनाते वक्त काफी मात्रा में प्रदूषण होता है यहां तक कि न्यूक्लियर पावर और जल शक्ति से बिजली पैदा करना भी अति कठिन और मुश्किल कार्य हैं जिसमें अतीश सतर्कता की जरूरत है लेकिन यह सब चीजें अक्सर हम नजरअंदाज कर देते हैं और एक जिम्मेदार नागरिक और विद्यार्थी होने के नाते हमें इन सभी बातों का पता होना चाहिए इसीलिए हमेशा आवश्यक पड़ने पर है बिजली से चलने वाले संसाधनों का इस्तेमाल करना चाहिए तथा जो हमारा काम खत्म हो जाए तो हमें इन संसाधनों को बंद करना नहीं बोलना चाहिए अक्सर हम देखते हैं कि सड़कों पर दिन में भी लाइट जली रहती हैं जो अधिक मात्रा में बिजली की खपत करते हैं अगर ऐसा दिखे तो अपने क्षेत्र के बिजली अधिकारी को फोन करके सूचना देनी चाहिए इसमें कोई शर्माने की बात नहीं है क्योंकि बेहतर देश बेहतर नागरिक बनाते हैं हमारे आज के प्रयास हमारे भावी पीढ़ी को एक प्रदूषण मुक्त शांत और सुंदर माहौल दे पाएंगे

No comments:

Post a comment